कुकुरमुत्तों की तरह फलफूल रहे नर्सिंग होम ने एक और महिला की ली जान

रुचि श्रीवास्तव सहित पूरा स्टाफ नर्सिंग होम छोड़ कर भागा

लखीमपुर खीरी (आमिर इक़बाल)। जनपद में कुकुरमुत्तों की तरह फल फूल रहे नर्सिंग होम एवं पैथालॉजी लैब कसाईयों की भांति मरीजों की हत्याओं में लगे हुए हैं। स्वास्थ्य सुधार धन उगाही के अलावा मूकदर्शक बना हुआ है। जिला अधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह ने कमी माह पूर्व पूरे जिले में तमामो नर्सिंग होमो को शील करवाया था। परंतु स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के निकम्मेपन के कारण अपनी कार्यवाहियों को रोक दिया था।

झोलाछाप डॉक्टरों की उन्नति होने के बाद दो दो कमरे के नर्सिंग होम बनाने के बाद लूट फातिया की जा रही है। नर्सिंग होमो का स्तर निम्न स्तर पर है। बगैर रजिस्ट्रेशन नर्सिंग होम्स बगैर डाक्टरों के चल रहे हैं। परंतु उपचार करने वाला कोई डाक्टर उपलब्ध नहीं हैं।

कोतवाली सदर से संबद्ध पुलिस चौकी मिश्राना के अंतर्गत गढ़ी रोड पर शहर के बीचो बीच दो कमरे के नर्सिंग होम मैक्स केयर हॉस्पिटल में उस समय हंगामा मच गया जब २५ वर्षीय चार माह गर्भवती शब्बू निवासी शिवाला पुरवा पेट दर्द की दवा लेने आयी थी। इंजेक्शन लगते ही अचेत हो गयी।

डाक्टर रुचि श्रीवास्तव पीड़िता चिल्ला चिल्ला कर शब्बू के परिजनों से कह रही थी यहां से शब्बू को निकालो देखते ही देखते शब्बू की मौत हो गई। नर्सिंग होम में जमावड़े को देखते ही रुचि सहित पूरे अस्पताल के कर्मचारी भाग गये। पुलिस ने शब्बू के शव का पंचनामा भरने के पश्चात शव को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button