धूमधाम से मनाया गया रक्षाबंधन का पर्व

रायबरेली (इम्तियाज़ अहमद खान)। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी जिलेभर में धूमधाम से रक्षाबंधन का पर्व मनाया गया। फर्क सिर्फ इतना रहा कि असमंजस के चलते कुछ ने बृहस्पतिवार तो कुछ ने शुक्रवार को रक्षाबंधन मनाया। कहीं भाई ने बहन के घर जाकर तो कहीं बहन ने भाई के घर जाकर रक्षा सूत्र बंधवाया। बहनों ने रोली, टीका लगने के साथ भाइयों की आरती उतारी और राखी बांधी। मिठाइयां खिलाने के साथ ही भाइयों की लंबी उम्र की कामना की। भाइयों ने भी बहनों को गिफ्ट देकर खुश किया और उनकी मुसीबत में हमेशा खड़ा होने का संकल्प लिया।

यह भी पढ़ें : आईना द्वारा एलआईयू की बंदिशों से कलमकारों को आज़ाद कराने का संकल्प

रक्षाबंधन को लेकर राखी और मिठाई की दुकानों पर भीड़ रही। हर कोई इस खास मौके पर यादगार बनाने में जुटा रहा। बहन और भाई के अटूट बंधन के इस पर्व पर दोनों की खुशी देखते ही बन रही थी। सुबह से ही भाई राखी बंधवाने के लिए अपनी बहनों का इंतजार करते रहे। बहनों ने भाइयों के घर पहुंचकर परंपरा के अनुसार भाइयों के कलाई में राखी बांधकर मुंह मीठा किया। वहीं कुछ बहनें भी अपने भाइयों का इंतजार करती रही। भाइयों ने बहनों के घर पहुंचकर राखी बंधवाई। दिनभर यही सिलसिला चला। देहात क्षेत्रों में भी रक्षाबंधन धूमधाम से मना। महराजगंज, जगतपुर, ऊंचाहार समेत अन्य क्षेत्रों में रक्षाबंधन पर मिठाई और राखी की दुकानों पर भीड़ रही। बहनों ने अपने भाई के मनपसंद की राखी खरीदने में रुचि दिखाई।

बसों और ट्रेनों में रही भीड़भाड़

इस वर्ष देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर संपूर्ण भारत में मनाए जा रहे आजादी के अमृत महोत्सव पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बहनों को 2 दिन के लिए बस की सेवा फ्री कर दी। जिससे बहनें भाइयों को राखी बांधने जाएं तो उनको किराया देने की चिंता ना रहे। रक्षाबंधन पर बहनों और भाइयों में घर पहुंचने की जल्दबाजी दिखी। खासकर बहनों में। वह जल्द से जल्द घर पहुंचकर भाइयों को राखी बांधना चाहती थी। यही वजह रही कि ट्रेनों और बसों में भारी भीड़ रही। बस सेवा फ्री होने के कारण खासकर बसों मे ज्यादा भीड़ देखने को मिली। बसों पर सवार होने के लिए मारामारी दिखी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button