घास लेने गये जय जय राम का शव गन्ने के खेत में पड़ा मिला

जय जय राम का शव झुलसा था, पुलिस जांच में जुटी

लखीमपुर खीरी (अमीर इक़बाल) । जनपद की कानून व्यवस्था चौपट हर व्यक्ति असुरक्षित। पुलिस मुखिया संजीव सुमन द्वारा कानून व्यवस्था को चाक चौबंद बनाने के लिए नयी नयी रणनीति अपनाने के बावजूद अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। जब चाहते हैं अपराध करके गुम हो जाते हैं। बीते दिवस कोतवाली मोहम्मदी के ग्राम रायपुर खुर्द में पशुओं के लिए घास काटने गये 46 वर्षीय जय राम का शव गन्ने के खेत में पड़ा मिला। काटी गयी घास व हंसिया दूसरे खेत में तथा तीसरे खेत में चप्पले मिलीं। साईकिल से गये मृतक जयराम की साईकिल भी चौथे स्थान पर मिली।

पुलिस ने जयराम के शव का पंचनामा भरने के पश्चात शव को पोस्टमार्टम हेतु जिला मुख्यालय लखीमपुर भेज दिया है। जहां पोस्टमार्टम कर रहे चिकित्सक ने जय जय राम के शरीर व सर में चोटें दर्शाते हुए पेट में मौजूद बिसरे को सुरक्षित कर लिया है। घटना के संबंध में बताते हैं कि जय जय राम साईकिल से अपने खेतों में घास काटने गया था।जब साम तक घर वापस नहीं लौटा, परिजनों के साथ साथ गांव वालों ने भी उसकी तलाश की।रात भर तलाशने के बाद प्रातः गन्ने के खेत में जय जय राम का शव पड़ा मिला। घास की बोरी दूसरे खेत में व चप्पलें व साईकिल तीसरे व चौथे खेत में मिलीं। जिस स्थान पर जय जय राम का शव पड़ा मिला था।उस स्थान पर गन्ने टूटे पड़े थे। समझा जाता है कि हमला वरों ने जय जय राम की पहले पिटाई की और फिर उसको तेजाब मिला बिशाक्त पदार्थ पिला दिया।कारण वस उसका शरीर झुलस गया।जय जय राम के भायी राजकिशोर ने बताया कि भतीजी अचला राज का विवाह जनपद शाहजहांपुर से हुआ था।जिसका मुकदमा स्थानीय न्यायालय में बिचारा धीन है।अचला के पति निरंकार ने पहले भी अचला को मार डालने का प्रयास किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button