बिजली व्यवस्था बाधित होने से ऑक्सीजन सप्लाई हुई बंद, अस्पताल में 2 मरीजों ने तोडा दम

रायबरेली (इम्तियाज़ खान)। उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री व डिप्टी सीएम बृजेश पाठक स्वास्थ्य सेवाओ को बेहतर बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं वहीं सरकार की मंशा पर पानी फेरता जिला अस्पताल प्रशासन नजर आ रहा है रायबरेली जिला अस्पताल जो कि एक वीआईपी की श्रेणी में आता है जिसकी सेवाएं लगातार लचर बनी हुई है अपनी इन्हीं लचर सेवाओं के चलते आए दिन मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ती है।

आपको बताते चलें कि मंगलवार की शाम को जिला अस्पताल रायबरेली में 4 घंटों से बिजली ना होने के कारण ऑक्सीजन की व्यवस्था पूरी तरह से बंद हो गई है जिसके कारण एक ही वार्ड में भर्ती 2 मरीजों ने दम तोड़ दिया जिससे तीमारदार काफी आक्रोशित नजर आए और मौजूदा सरकार को कोस रहे हैं जबकि सरकार की तरफ से जिला अस्पताल में ऑटोमेटिक जनरेटर भी मौजूद लेकिन जनरेटर में डीजल ना होने के कारण विद्युत आपूर्ति पूरी तरह से बाधित हो गई जिसकी कीमत मरीजों को अपनी जान देकर चुकानी पड़ रही है।

अब देखना है कि जिम्मेदार अधिकारियों पर जिला प्रशासन कोई कार्यवाही करता है या जिला अस्पताल प्रशासन की मनमानी ऐसे ही जारी रहेगी वही चल मीडिया कर्मियों ने सीएमएस नीता साहू से बात करने का प्रयास किया तो उन्होंने मामले की जानकारी ना होने का हवाला देते हुए पल्ला झाड़ती हुई नजर आई और मीडिया कर्मियों के किसी भी सवाल का जवाब देने से सीएमओ और सीएमएस ने मना कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button