भाजपा नेता ने मामूली विवाद में टैक्सी ड्राईवर की पीट पीट कर की हत्या

लखीमपुर खीरी (आमिर इक़बाल)। जनपद की कानून व्यवस्था सवालों के घेरे में,नगर के बीचोबीच स्थित विलोबी मेमोरियल नसरुद्दीन हाल के बाहर भाजपा नेताओं ने टैक्सी ड्राईवर अकील को पीट पीट कर मार डाला, अकील को तुरंत ट्रामा सेंटर ओयल पहुंचाया गया। जहां डियूटी पर तैनात चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। अकील की मौत के बाद पुलिस के हांथ पैर फूल गये विलोवी मेमोरियल हॉल में लगा मेला दो घंटे के भीतर ही उजड़ गया। पूरे शहर में पीएसी पुलिस बल तैनात है।

यह भी पढ़ें : बिटिया के मरने के बाद भाईयों ने दहेज के सामान के साथ घर में रखा अन्य सामान भी लूटा

मृतक के भायी शरीफ ने अकील की मौत की प्राथमिकी कोतवाली सदर में पंजीकृत करायी है। पुलिस ने अकील के शव का पंचनामा भरने के पश्चात शव को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया है। पोस्टमार्टम कर रहे चिकित्सकों ने शव पर दर्जनों चोटों के साथ गुप्तांग की गोलियां छतिग्रस्त होने से मौत होना बताया है।

भाजपा नेता होने के कारण पुलिस ने कयी धाराओं के साथ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया था। कारण वश हजारों लोगों ने रोड पर शव रखकर रास्ता जाम कर दिया। पुलिस अधिकारियों की मिन्नतों के बाद हत्या का मुकदमा ३०२ पंजीकृत किया गया तब जाम को हटाया जा सका। समाचार लिखे जाने के समय तक शव का अंतिम संस्कार नहीं किया गया है,मौके पर पीएसी बल तैनात है।

यह भी पढ़ें : क्या अब्दुल, कलहंस जैसे 43 पत्रकारों को नही मिलेगा सरकारी आवासों का सुख ?

घटना के संबंध में बताते हैं प्रातः टैक्सी ड्राइवर अकील सुहेल उर्फ बाबा नयीम को लेकर लखनऊ गया था। वापसी में आकर सुहेल ने बिलोबी मेमोरियल हॉल परिसर में चल रहे मेला देखने की इच्छा प्रकट की, तो अकील ने पंजाबी रसोई के पास गाड़ी खड़ी करके मेला देखने चला गया। जहां मेले में लगा झूला भी झूला गया। झूले से उतरते ही सुहेल उर्फ बाबा ने चाट बेचने वाले रजत रस्तोगी के हंसी में एक चपत मार दी। फिर क्या था मामला गर्म हो गया और रजत ने भाजपा नेता अनूप शुक्ला, भायी बृजेश शुक्ला बार कौंसिल आफ उत्तर प्रदेश उपाध्यक्ष, अजय शुक्ला के बेटे देवर्षि को बुला लिया।

यह भी पढ़ें : जनपदवासियों का जीवन ख़तरे में डाल जिलाअस्पताल स्थानांतरित

यह देख कर सूहेल उर्फ बाबा व नयीम मौके से भाग गये। अनूप शुक्ला व उसके साथियों ने जमकर अकील की पिटाई की और मरा हुआ जान कर उसे छोड़ कर भाग गए। घटना के बाद पुलिस ने सीसी कैमरे खंघाल कर रात्रि ही में माहौल बिगड़ने न पाये भाजपा नेता अनूप शुक्ला, बृजेश शुक्ला, देवर्षि शुक्ला एवं रजत रस्तोगी को मकानों की छतों से घर में कूद कर दबोच कर जेल भेज दिया। यही नहीं पत्रकार भागवंत शुक्ला के बेटों को भी जो मेला देखने गये थे हिरासत में लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button